श्रीलंका में हुए ISIS के आतंकी हमले को देखते हुए भारतीय जांच एजेंसियां काफी चौकन्नी हैं

श्रीलंका में हुए ISIS के आतंकी हमले को देखते हुए भारतीय जांच एजेंसियां काफी चौकन्नी हैं

श्रीलंका में हुए ISIS के आतंकी हमले को देखते हुए भारतीय जांच एजेंसियां काफी चौकन्नी हैं. भारत में ISIS के हमले का खतरा हर वक्त मंडराता रहता है. भारतीय जांच एजेंसियां खुफिया एजेंसियों की मदद से 50 से भी ज्यादा उन भारतीय मूल के ISIS के संदिग्धों पर नज़र रख रही हैं, जो अफगानिस्तान और सीरिया में रह कर भारत पर बड़े हमले की तैयारी में लगातार लगे हुए हैं.

जांच एजेंसियों को शक है कि देश के अलग अलग राज्यों से चुपचाप अफगानिस्तान और सीरिया में जाकर बसे ये सभी संदिग्ध भारत में युवाओं को ISIS में भर्ती करने की साजिश में लगातार लगे हुए हैं. जांच एजेंसियों की रिपोर्ट से ये खुलासा हुआ है कि अब तक पूरे देश में जितने भी ISIS के आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है, उनमें अब तक उत्तर प्रदेश राज्य से सबसे ज्यादा गिरफ्तारी हुई हैं. ऐसे में आईएसआईएस के निशाने पर उत्तर प्रदेश सबसे ज्यादा है. जहां ISIS लगातार युवाओं को अपने संगठन में भर्ती करने की साजिश में लगा हुआ है.

भारत पर बड़े हमले की फ‍िराक में

श्रीलंका में हुए ISIS के फिदायीन हमले की तर्ज पर भारत में भी आईएसआईएस बड़े हमले की फिराक में है, लेकिन अब तक ये संगठन भारत में किसी भी तरह के हमले को अंजाम नहीं दे सका है. इसके पीछे सबसे बड़ी वजह ये है कि हमले की साजिश को अंजाम देने से पहले ही हमारी जांच एजेंसियां ISIS के अलग-अलग मॉड्यूल को समय रहते नाकाम कर रही हैं. नेशनल इन्‍वेस्टिगेशन एजेंसी यानि एनआईए अब तक ISIS से जुड़े 26 केस दर्ज कर चुकी है और देश के अलग अलग राज्यों में बनने वाले ISIS के ऐसे नेटवर्क को किसी भी साजिश को अंजाम देने से पहले अपनी गिरफ्त में ले रही है.

100 से ज्‍यादा संदि‍ग्‍धों की ग‍िरफ्तारी

केन्द्रीय सुरक्षा से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, भारतीय जांच एजेंसियां पिछले 5-6 सालों में अब तक 100 से ज्यादा आईएसआईएस के संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार कर चुकी हैं. यही नहीं कई संदिग्धों को डि-रैडिक्लाइजेशन कैंप में रख कर उन्हें डी -रैडिक्लाइज़ड किया गाया है. जो ये दिखाता है कि हमारी जांच एजेंसियां इस खतरे को लेकर कितनी गंभीर हैं.

26 से ज्‍यादा मॉड्यूल को किया गया नाकाम

ज़ी न्यूज़ को मिली जानकारी के मुताबिक अब तक अलग अलग राज्यों से जहां 100 से ज्यादा ISIS के संदिग्धों को गिरफ्तार किया जा चुका है. वहीं 26 से ज्यादा ISIS के मॉड्यूल को समय रहते नाकाम किया जा चुका है. 100 के करीब जिन संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है, उनमें से 53 नार्थ इंडिया यानि यूपी, बिहार, मध्यप्रदेश जैसे राज्यों से हैं, जबकि बाकी दक्षिण भारत के केरल, तेलांगाना, तमिलनाडु और महाराष्ट्र जैसे राज्यों से हैं.

जांच एजेंसियों की रिपोर्ट से ये भी पता चलता है कि सबसे ज्यादा जिन राज्यों से ISIS के संदिग्धों को अब तक गिरफ्तार किया गया है, उनमें उत्तर प्रदेश पहले नंबर है. उत्तर प्रदेश से अब तक करीब 26 ISIS के संदिग्धों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इसके बाद केरल -16, तमिलनाडु-14, महाराष्ट्र- 15 और तेलांगाना से 15 आईएसआईएस के संदिग्ध गिरफ्तार किये जा चुके हैं.

error: Protected by McAfee Secure